प्रोस्टक्ट टेबलेट के फायदे घटक द्रव्य सेवन विधि और नुकसान

वर्तमान समय में मूत्र रोगों की समस्या बहुत तीव्र गति से बढती जा रही है | ऐसे में आज हम केरला आयुर्वेदा की प्रोस्टेक्ट टेबलेट (prostact tablet in hindi) के फायदे के बारे में आगे विस्तार से चर्चा करेंगे –

घटक द्रव्य Prostact  Tablet Ingridients in Hindi

  • वरुणादी क्वाथ  – 55 mg
  • खदिर – 55 mg
  • पीतकुष्मांड – 55 mg
  • गोक्षुर – 55 mg
  • अलसी 27.5mg
  • यसद भस्म 27.5mg

केरला आयुर्वेदा प्रोस्टेक्ट टेबलेट के फायदे Prostact Tablet Benefits in Hindi

 यूरिन इन्फेक्शन में प्रोस्टेक्ट टेबलेट के फायदे

यदि आपको यूरिन में किसी प्रकार का इन्फेक्शन की शिकायत रहती है तो प्रोस्टेक्ट टेबलेट (prostact tablet in hindi) आपको इन्फेक्शन से राहत दिलाने में फायदेमंद साबित हो सकती है बशर्ते आप चिकित्सक की देखरेख में इसका सेवन करे |

बढ़े हुए प्रोस्टेट में प्रोस्टेक्ट टेबलेट के फायदे

जिन लोगो की प्रोस्टेट ग्रंथि बढ़ी हुई है उनके प्रोस्टेक्ट टेबलेट का (prostact tablet in hindi) सेवन वरुनादी क्वाथ के साथ करने से बढ़ा हुआ प्रोस्टेट धीरे धीरे सामान्य होने लगता है |

शरीर में होने वाले दर्द में फायदेमंद है प्रोस्टेक्ट टेबलेट

शरीर में होने वाले सामान्य दर्द के लिए प्रोस्टेक्ट टेबलेट लाभदायक परिणाम देती है |

केरला आयुर्वेद प्रोस्टेक्ट की सेवन विधि और मात्रा/खुराक  Kerla Ayurveda Prostact Tablet Uses in Hindi

जिन लोगो को आयुर्वेद चिकित्सक द्वारा प्रोस्टेक्ट टेबलेट (prostact tablet in hindi) के सेवन की सलाह दी जाती है उसी के अनुरूप इसका सेवन करना चाहिए सामान्यतौर पर प्रोस्टेक्ट टेबलेट की खुराक 1-1 टेबलेट का सेवन गुनगुने पानी के साथ किया जाता है | किन्तु यदि इसका सेवन वरुणादी क्वाथ के साथ किया जाये तो इसके अधिक बेहतर परिणाम मिलने की सम्भावना रहती है |

प्रोस्टेक्ट के नुकसान Prostact Tablet Side Effects in Hindi

चिकित्सक की देखरेख में प्रोस्टेक्ट टेबलेट का सेवन करने से किसी प्रकार का साइड इफ़ेक्ट नही होता है | प्रेगनेंसी के दौरान इसका सेवन करना गर्भपात का कारण बन सकता है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *