ल्यूकोरिया की होम्योपैथिक दवा

वर्तमान समय में महिलाओ की सबसे बड़ी समस्या यदि किसी बीमारी को कह सकते है तो वो है ल्यूकोरिया ! क्योकि एक महिला को यदि वो कामकाजी है तो ऑफिस से आने के बाद भी घर का काम बच्चों आदि के काम का अतिरिक्त बोझ रहता है ऐसे में बहुत भागदौड़ भरी लाइफ होने से वह अपने स्वास्थ्य को भूल सी जाती है | और इस भयंकर बीमारी से ग्रसित हो जाती है |

LEOKO DRINK KIT FOR WHITE DISCHARGE
LEOKO DRINK KIT FOR WHITE DISCHARGE

जिस प्रकार आयुर्वेद में ल्यूकोरिया / सफेद पानी की दवा आती है वैसे ही ल्यूकोरिया की होम्योपैथिक दवा भी बहुत ही कारगर दवाई है जिनके मूल्य, मात्रा सेवन विधि का उल्लेख आगे सूचीबद्ध किया जा रहा है |

CALCAREA OVA TESTA

ल्यूकोरिया की होम्योपैथिक दवाओ में सबसे महत्वपूर्ण दवा है CALCAREA OVA TESTA यह दवा लिकोरिया के साथ होने वाले कमर दर्द व बवासीर के लिए भी फायदेमंद साबित होती है |

मूल्य :- 125/-

मात्रा :- 20 ग्राम

सेवन विधि :- 2-2 टेबलेट सुबह शाम या चिकित्सक के निर्देशानुसार

Cubeba officinalis Mother Tincture Q

छोटी बच्चियों में होने वाली सफेद पानी की समस्या के लिए उत्तम होम्योपैथिक दवा है | यह दवा लिकोरिया के साथ-साथ बार-बार पेशाब आना व युरेथ्राइटीस के उपचार के लिए भी अच्छी दवा है |

मूल्य :- 70-114/-

मात्रा :- 30 मिली

सेवन विधि :- 3-5 बूंद सुबह शाम या चिकित्सक के निर्देशानुसार

SEPIA OFFICIANAL Dilution 30 CH

मासिकधर्म की अनियमितताओ के साथ स्ट्रेस, घबराहट, मोनोपोज आदि के साथ ही साथ श्वेत प्रदर के लिए भी लाभदायक होम्योपैथिक दवा है |योनी से पतला दुधिया तथा वहां की स्किन को छील देता है | यह स्त्राव जहा भी स्किन पर लगता है वहां खुजली भी अधिक होती है | इस प्रकार की स्त्रीयों को कब्ज की शिकायत अधिक रहती है |

मूल्य :- 126/-

मात्रा :- 10 मिली

सेवन विधि :- 2-2-2 बूंद या चिकित्सक के निर्देशानुसार

Kreosotum 200

जिस प्रकार के ल्यूकोरिया में जहां स्त्राव लगता है व्ही से स्किन को छील डालता है | प्रदर का रंग पीलापन लिए होता है जिसमे हरे गेंहू के जैसे गंध आती है |

मूल्य :- 95/-

मात्रा :- 30 मिली

सेवन विधि :- 5-10 बूंद सुबह शाम या चिकित्सक के निर्देशानुसार

Pulsatilla-30

जिस प्रकार के प्रदर का स्वरूप श्लेष्मा जैसा व मलाई सदृश्य दीखता है साथ इसमे जलन का बना रहना सामान्य है | इस तरह के प्रदर में रंग परिवर्तित होता रहता है जैसे ऋतु स्त्राव देर से थोडा-थोड़ा काला धब्बेदार कभी कोई रंग कभी कोई रंग इस प्रकार परिवर्तनशील रहता है रोगिणी महिला शारीरिक दृष्टि से मोती ताज़ी होती है | साथ ही रोगिणी महिला को रोना आना स्वाभाविक सा हो जाता है | वह सहानुभूति पसंद करती है | प्यास नही लगती है | अंदर से ठंड महसूस होने पर भी ठंडी हवा पसंद करती है |

मूल्य :- 125/-

मात्रा :- 11 मिली  

सेवन विधि :- 2-2 बूंद सुबह शाम या चिकित्सक के निर्देशानुसार

Graphites 30-200

यह दवा सफेद पानी के निम्न लक्षणों में दी जाती है जैसी-ऋतु स्त्राव देरी से और बहुत कम मात्रा में होता हो | जो महिलाये हेल्दी होती है उनके ऋतु स्त्राव का रंग पीला या काला सा होता है | इसका स्त्राव पमिला ज्यादा मात्रा में फव्वारे की तरह छूटता है |

मूल्य :- 85-95/-

मात्रा :- 30 मिली

सेवन विधि :- 2-5 बूंद सुबह शाम या चिकित्सक के निर्देशानुसार

Calcaria Carbonica -30

जिन लड़कियों को बाल्यावस्था में ही प्रदर की समस्या होना प्रारम्भ हो जाता है उनके लिए calearia carb-30 बहुत ही फायदेमंद साबित होती है | जिस प्रदर में स्त्राव बहुत अधिक दुधिया, मवाद सदृश्य पीला गाढ़ा होता हो | मासिकधर्म से पहले सिर दर्द होता है | पेट दर्द व ठंड लगती है और मासिकधर्म के से पहले सफेद पानी की समस्या रहती है ऐसे लक्षणों में होम्योपैथिक में ल्यूकोरिया की calearia carb बहुत लाभदायक व उपयोगी दवा है |

मूल्य :- 85/-

मात्रा :- मिली

सेवन विधि :- 2-5 बूंद सुबह शाम या चिकित्सक के निर्देशानुसार

Caulophyllum – 30-200

छोटी उम्र की लड़कियों में जब ल्यूकोरिया की समस्या अधिक हो जाने से वो शारीरिक रूप से बहुत कमजोर हो जाती है | जब प्रदर के समय पीड़ित लडकी या महिला के चेहरे पर दाने  से निकल जाते है |श्वेत प्रदर के इस प्रकार के लक्षणों में होम्योपैथिक में ल्यूकोरिया की दवा caulophylum – 30 बहुत फायदेमंद साबित होती है |

मूल्य :- 125/-

मात्रा :- 11 मिली

सेवन विधि :- 1-2 बूंद सुबह शाम या चिकित्सक के निर्देशानुसार

Borax 30

जब सफेद पानी का स्वरूप अंडे की सफेदी जैसा, दही जैसा हो साथ ही जब सफेद पानी निकल रहा होता है तो पीड़ित महिला को ऐसा अनुभव होता है जैसे की गर्म पानी निकल रहा हो | इसके कारण जरायु द्वार में झिल्ली बन जाती है जिससे मासिकधर्म कष्ट के साथ होता है |  borua-30 सफेद पानी की व sterlity के लिए होम्योपैथिक की उत्तम दवा है |

मूल्य :- 85/-

मात्रा :- 30 मिली

सेवन विधि :- 1-2 बूंद सुबह शाम या चिकित्सक के निर्देशानुसार

Alumina-30

जिन महिलाओं को प्रदर इतना अधिक होता हो की प्रदर निचे जांघो तक बह जाता है | इस में होने वाला स्त्राव पारदर्शी सूतदार होता है | साथ ही स्त्राव का वेग दिन के समय बढ़ जाता है | इस प्रकार के प्रदर की समस्या जिन महिलाओ को रहती है उनमे मासिकधर्म के पश्चात अधिक थकावट महसूस होती है | होम्योपैथिक की ALUMINA-30 सफेद पानी की पुराणी समस्या के लीये अधिक फायदेमंद दवा है |

मूल्य :- 85/-

मात्रा :- 30 मिली

सेवन विधि :- 1-2 बूंद सुबह शाम या चिकित्सक के निर्देशानुसार

Coculus-30

मासिकधर्म के बीच में प्रदर का स्त्राव का झरना फूट पड़ता है |

मूल्य :- 125/-

मात्रा :- 11 मिली

सेवन विधि :- 1-2 बूंद सुबह शाम या चिकित्सक के निर्देशानुसार

Sabina-30

ऐसी महिलाये जिनको पीरियड्स के बाद प्रदर का स्त्राव गाढ़ा और लगने वाला होता है उनके लिए ल्यूकोरिया की होम्योपैथिक दवा SABINA-30 बहुत कारगर औषधि है |

मूल्य :- 200/-

मात्रा :- 30 मिली

सेवन विधि :- 1-2 बूंद सुबह शाम या चिकित्सक के निर्देशानुसार

Calcarea phosphorica 6X – 30

जिस महिला को अंडे की सफेदी जैसा मलाई जैसा प्रदर होता है ल्यूकोरिया के ऐसे लक्षणों में होम्योपैथिक की दवा calcarea phosphorica – 30 उत्तम दवा है |

मूल्य :- 170/-

मात्रा :- 20 ग्राम

सेवन विधि :- 1-2 टेबलेट सुबह शाम या चिकित्सक के निर्देशानुसार

Carbo veg.30

सफेद पानी की जिस अवस्था में मासिकधर्म से पहले रोगी महिला डिप्रेशन में रहती है और मासिकधर्म के दौरान अपने आप को स्वस्थ महसूस करती है | और जैसे ही मासिकधर्म खत्म हो जाता है फिर अपने आप को अस्वस्थ महसूस करने लगती है ऐसी स्थिति में होम्योपैथीक की carbo veg.30 अत्यंत लाभदायक साबित होती है |

मूल्य :- 85/-

मात्रा :- 30 मिली

सेवन विधि :- 1-2 बूंद सुबह शाम या चिकित्सक के निर्देशानुसार

Ammonium muriaticum-30

जिन महिलाओं को पेशाब करने के बाद हर बार ही अंडे की सफेदी जैसा प्रदर स्त्राव होता है उनके लिए ammronium muriaticum -30 बहुत लाभदायक होम्योपैथिक औषधि है |

मूल्य :- 85/-

मात्रा :- 30 मिली

सेवन विधि :- 1-2 बूंद सुबह शाम या चिकित्सक के निर्देशानुसार

Phosphorus-30

ल्यूकोरिया से पीड़ित ऐसी महिलाये जिनको लम्बे समय से ल्यूकोरिया की परेशानी रहने से एक समय ऐसा आजाता है की मासिक स्त्राव के स्थान पर प्रदर स्त्राव होने लग जाता है अर्थात प्रदर का वेग बहुत बढ़ जाता है | ऐसी स्थिति से निपटने के लिए होम्योपैथिक की phosphorus-30 उत्तम औषधि है |

मूल्य :- 85/-

मात्रा :- 30 ग्राम

सेवन विधि :- 1-2 बूंद सुबह शाम या चिकित्सक के निर्देशानुसार

Medorrhinum-1m

उपरोक्त सभी दवाओ के सेवन के बाद भी लाभ नही मिल रहा हो ऐसी कंडीशन में प्रत्येक 15 वे दिन medorrhinum-1 m एक बार इस औषधि की एक मात्रा कुछ महीनो तक लगातार सेवन करवाने से ल्यूकोरिया से परेशान महिला को आराम मिल जाता है |

मूल्य :- 95/-

मात्रा :- 30 ग्राम

सेवन विधि :- 1-2 ड्राप सुबह शाम या चिकित्सक के निर्देशानुसार

डॉ.रामहरि मीना

निदेशक श्री दयाल नैचुरल स्पाइन केयर जयपुर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *