फेफड़ो को मजबूत बनाने में श्वास कास चिंतामणि रस के फायदे

श्वास कास चिंतामणि रस के फायदे

क्या होता है श्वासकास चिंतामणि रस ?

आयुर्वेद ग्रन्थ भैषज्य रत्नावली के हिक्का कास प्रकरण में श्वाश्वासकास चिंतामणि रस का विस्तार से वर्ण किया है जिसमे आचार्यो ने बताया है की इसके सेवन से फेफड़ो में इकट्ठे हुए कफ को खत्म करके श्वास व दमा से होने वाले कष्टों से मनुष्य की रक्षा करता है |

श्वास कास चिंतामणि रस के फायदे
श्वास कास चिंतामणि रस के फायदे

श्वसन तन्त्र सम्बन्धित रोगों के साथ फेफड़ो को मजबूत बनाने में श्वासकास चिंतामणि रस के फायदे व सेवन करने की सही विधि आदि के बारे में इस लेख में विस्तार से चर्चा करेंगे –

श्वास कास चिंतामणि रस के घटक द्रव

  • स्वर्ण भस्म
  • शुद्ध पारद
  • सुवर्ण माक्षिक भस्म
  • अभ्रक भस्म
  • शुद्ध गंधक
  • लौह भस्म
  • मोती भस्म
  • कंटकारी
  • मुलेठी
  • गोदुग्ध
  • नागवेल पत्र

पतंजली श्वास कास चिंतामणि रस बनाने की विधि

स्वर्ण भस्म, शुद्ध पारद, सुवर्ण माक्षिक भस्म को 1-1 ग्राम मोती भस्म 500 मिग्रा, शुद्ध गंधक और अभ्रक भस्म 2-2 ग्राम, लेकर पारद और गंधक की कज्जली बनाले इसके बाद इस कज्जली में अन्य औषधियों को चूर्ण रूप में मिलाकर कंटकारी के रस बकरी के दूध मुलेठी के काढ़े और पान के रस से प्रत्येक से 7-7 भावना देकर 250 मिग्रा की गोलिया बना ले |

श्वासकास चितामानी रस के फायदे BENEFITS of SWAS KAS CHINTAMANI RAS in hindi

श्वास कास चिंतामणि रस के श्वसन सम्बन्धी रोगों पर प्रभावी फायदे देखे गये है |

फुफ्फुस की कार्य क्षमता को बेहतर करने में श्वासकास चिंतामणि रस के फायदे

इसके सेवन से श्वास और खांसी का शमन होता है | गले में सूखे कफ की अनुभूति से प्रकुपित हुई वायु श्वास नालिकाओ में अवरोध उत्पन्न कर देती है | यदि यह उत्पन्न हुआ अवरोध अधिक समय तक बना रहता है तो प्राण वायु अर्थात ओक्सिजन (oxegen ) श्वास मार्ग में स्वभाविक रूप से प्रवेश नही कर पाने से फुफ्फुस की गति अनियमित होने लगती है | साथ ही गले में कर्कशता बढने लगती है | ऐसे में श्वास कास चिंतामणि रस के साथ महालक्ष्मी विलास रस, त्रैलोक्य चिंतामणि रस , अभ्रक भस्म, आदि का सेवन करने से श्वास सम्बन्धी समस्या तो ठीक होंगी ही साथ ही साथ फुफ्फुस की कार्य क्षमता भी बेहतर होती है |

श्वास सम्बन्धी रोगों में श्वास कास चिंतामणि रस के फायदे

जिन लोगो को थोड़े परिश्रम के बाद ही साँस फूलने की समस्या रहती है साथ ही शरीर क्षय होने लगता है उन्हें आयुर्वेद चिकित्सक से परामर्श कर श्वास कास चिंतामणि रस का सेवन मधु के साथ करने से जल्द ही समस्या से छुटकारा मिल जायेगा | अधिक बेहतर परिणाम के लिए अभ्रक भस्म, महालक्ष्मी विलास रस , प्रवाल पिष्टी, सितोफलादी चूर्ण का सेवन करने से अधिक शीघ्र लाभ मिलता है |

अजीर्ण जन्य श्वास रोग में श्वास कास चिंतामणि रस के फायदे

आमाशय विकृति से उत्पन्न हुए श्वास रोग को उपद्रव जनित श्वास रोग माना जाता है ऐसे में केवल श्वास रोग का इलाज करने मात्र से इस प्रकार का श्वास रोग ठीक नही होता हो ऐसे में श्वास कास चिंतामणि रस के साथ पुनर्नवा मंडूर आदि का सेवन करवाने से शीघ्र लाभ मिल जाता है |

कफ प्रधान खांसी में श्वासकास चिंतामणि रस के फायदे

कास रोग मुखत: लम्बे समय से हो रहे प्रतिशाय, कीटाणु, इन्फ्लूएंजा, आदि विषाक्त वायु के संपर्क में रहने से उत्पन्न होता है | जैसा की वर्तमान समय में कोविड के रोगियों में कफ फुफ्फुस में एकत्रित हो जाने से रोगी को श्वास लेने में अधिक परेशानी होने लगती है साथ ही साँस फूलने लगती है ऐसे में श्वास कास चिंतामणि रस का सेवन शहद या पिपली के साथ करने से अत्यंत प्रभावी परिणाम मिलते है |

हिक्का रोग में श्वास कास चिंतामणि रस है फायदेमंद

हिचकी अर्थात हिक्का रोग की उत्पत्ति के बहुत से कारण होते है | किन्तु सभी कारणों की शुरुआत महाप्राचिरा पेशी (Diaphragm) से ही होती है | हिक्का रोग के उपचार के लिए श्वास कास चिंतामणि रस का सेवन सौंठ मिले हुए गुड के साथ करने से हिक्का रोग का शमन होता है |

डाबर श्वासकास चिंतामणि रस की सेवन विधि और मात्रा SWASKAS CHINTAMANI RAS uses in hindi

1-2 टेबलेट शहद या पिप्पली के साथ या चिकित्सक के बताये अनुसार सेवन करे |

श्वासकास चिंतामणि रस के नुकसान

प्रेग्नेंट महिलाओ और छोटे बच्चो के इसका सेवन नही करवाना चाहिए साथ ही श्वास रोग की प्रारम्भिक अवस्था में सके स्थान पर श्वास कुठार रस का सेवन करने से भी बेहतर लाभ मिलता है |

अपथ्य

इस दवा के सेवन के दौरान खट्टी वस्तुओ का सेवन , मैदा, बेसन, पनीर, दूध, दही, छाछ, ठंडी वस्तुओ का सेवन नही करना चाहिए |

श्वास कास चिंतामणि रस price

डाबर श्वासकास चितामानी रस का मूल्य

पैकिंग – 10 टेबलेट

मूल्य – 830/-

धूतपापेश्वर श्वासकास चिंतामणि रस का मूल्य

पैकिंग -10 टेबलेट

मूल्य – 1345/-

पैकिंग – 30 टेबलेट

मूल्य – 3399/-

उंझा श्वास कास चिंतामणि रस का price

पैकिंग 10 टेबलेट

मूल्य price -333/-

नोट- किसी भी रस औषधि का सेवन चिकित्सक की देखरेख में ही करे |

धन्यवाद !

डॉ.रामहरि मीना

निदेशक – श्री दयाल नैचुरल स्पाइन केयर जयपुर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *