गुर्दे की पथरी (Kidney Stone) के कारण लक्षण आयुर्वेद व् घरेलू उपाय

गुर्दे की पथरी (Kidney Stone) की दवा

गुर्दे की पथरी (Kidney Stone) क्या है

किडनी में पथरी होने पर रोगी व्यक्ति की हालत खराब होने लगती है और जब गुर्दे की पथरी (Kidney Stone) का दर्द होता है तो रोगी व्यक्ति की हालत पागलपन की तरह हो जाती है इसकी वास्तविकता वही व्यक्ति जानता है जिसको किडनी में पथरी हो या पथरी वाले रोगी के सम्पर्क में रहने वाला इन्सान भी इसे बखूबी महसूस कर सकता है |

गुर्दे की पथरी (Kidney Stone)
गुर्दे की पथरी (Kidney Stone) की दवा

जबकि व्यक्ति अपनी दिनचर्या को संयमित रखे और कैल्शियम युक्त भोज्य पदार्थो का सेवन कम से कम करे तो इस समस्या से आसानी से बचा जा सकता है |

गुर्दे की पथरी (Kidney Stone) के घरेलू उपाय   

किडनी में होने वाली सामान्य आकार की गुर्दे की पथरी (Kidney Stone) को आगे दिए जाने वाले घरेलू उपायों से आसानी से निकाला जा सकता है | जो कि हमारे द्वारा अनुभूत है |

  • सफेद मदार/अर्क/आंकड़ा के 9 फूलो को दो नागरपान के पत्तो में रखकर प्रात:काल धीरे धीरे चबाये | यह प्रयोग लगातार तीन दिन करने से आपकी सामान्य आकर वालो पथरी से छुटकारा मिल जायेगा |
  • पानी है गुर्दे की पथरी (Kidney Stone)  का सबसे उत्तम इलाज जी हा दोस्तों यदि आप किडनी स्टोन से परेशान हो और सभी प्रयोग करने के बाद भी निराशा ही हाथ लगी हो तो एक बार पानी के प्रयोग को आजमा कर देखे आपको अवश्य लाभ होगा | दो दिन आपको केवल नारियल पानी , नींबू पानी पर ही रहना है तीसरे दिन आपको भरपूर मात्रा में नींबू पानी पीकर घुड़सवारी करनी है कम से कम 8-10 किलोमीटर | इस उपाय को करने से पहले यह निश्चय अवश्य करे की घुड़सवारी के दौरान जब पथरी टूटकर निकलेगी तो दर्द हो सकता है | हालाँकि सभी रोगियों को दर्द नही होता है | जो लोग पहले दो दिनों में बताये अनुसार सेवन नही करते उन्हें ही दर्द की शिकायत अधिक होने की सम्भावना रहती है |
  • 100 मिली बकरी का दूध, 100 मिली लिम्का लेकर दोनों को अच्छे से फेंट ले | तदुपरांत इसका सेवन करे | यह प्रयोग नियमित रूप से सात दिनों तक करना है |
  • जौ के पुरे पोधे की राख़, अपामार्ग/उंघा/ के सम्पूर्ण पोधे की राख़ को समान भाग मिलाकर चुटकीभर की मात्रा में हर बार पिए जाने वाले पानी में मिलाकर पीने से पथरी तो ठीक होती ही है इसके अलावा बहुत से शारिरिक लाभ होते है | इसी का दूसरा विकल्प आगे देखे जो की आपको आसानी से बाजार में उपलब्ध हो जायेगा |
  • अपामार्ग क्षार 5 ग्राम, यवक्षार 5 ग्राम, सज्जिक्षार 5 ग्राम की मात्रा में लेकर एक साथ मिलाकर रखे | दिन में 4-5 बार एक गिलास पानी में चुटकीभर मिलाकर सेवन करने से कुछ ही दिनों में गुर्दे की पथरी (Kidney Stone) पिगलकर बहार निकल जाएगी |
  • सेव का सिरका 5 मिली, नीबू का रस 10 मिली, ओलिव आयल 5 मिली मिलाकर सेवन करने से किडनी स्टोन तो ठीक होगी ही साथ ही साथ आपके लीवर की अतिरिक्त चर्बी भी कम हो जाएगी | यह नुस्खा लीवर को डिटोक्स करने का काम भी बखूबी करता है |
  •  आम के पत्तो का चूर्ण रोग सुबह बिना मुह धोये सेवन करने से कुछ ही दिनों में गुर्दे की पथरी (Kidney Stone) गल गल कर बहार निकाल जाती है |
  • नारियल पानी का अधिक से अधिक सेवन करे और कच्चे रास्ते में सफर करे या घुड़सवारी करे |

बार बार गुर्दे की पथरी (Kidney Stone) क्यों होती है

अक्षर अपने लोगो को यह कहते सुना होगा की गुर्दे की पथरी (Kidney Stone) का ऑपरेशन करवा लिया था लेकिन अब फिर से दुबारा पथरी हो गयी है | इसका कारण होता है की ऑपरेशन के द्वारा केवल किडनी में उपस्थित पथरी का हुआ है पथरी के कारण का नही | और जब तक पथरी जिन कारणों से पड़ी है उसका उपचार नही होगा पथरी बार बार पडती रहेगी |

बार बार पथरी पड़ने से रोकने के उपाय

जिस व्यक्ति को एक बार पथरी हो जाती है  उसे दुबारा होने की सम्भावना अधिक रहती है | बहुत से लोग पूछते है की पहले पथरी का ऑपरेशन करवा लिया था लेकिन अब फिर दुबारा किडनी स्टोन हो गयी है ऐसे में क्या करे | ऐसे लोगो के लिए सबसे जरूरी हो जाता है की अपने खाने में क्षारीय पदार्थो को अधिक से अधिक शामिल करे | साथ ही कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थो का सेवन कम से कम करे | जीवन में कभी भी पथरी हो चुकी होने वाले रोगियों को पानी का सेवन अधिक से अधिक करना उनके लिए फायदेमंद रहता है |

किडनी स्टोन में पेशाब बंद होने के उपाय

यदि आप गुर्दे की पथरी (Kidney Stone) से परेशान हो तो निश्चित ही आपको कभी कभी पेशाब बंद होने की समस्या से भी परेशान होना पड़ता होगा | ऐसे में आपको अपने आसपास से बरगद के 2-4 पत्तो को छोटे-छोटे टुकड़े करके 200 मिली पानी में तबतक उबाले जब तक की पानी 50 मिली ना रह जाये यह प्रक्रिया धीमी आंच पर करनी है उसके बाद हल्का गुनगुना रहने पर छानकर पीने से कुछ समय के बाद ही आपका रुका हुआ पेशाब खुल जायेगा | यदि इस उपाय के बाद भी आपका पेशाब नही खुलता है तो शीघ्रातिशीघ्र आपको चिकित्सकीय सलाह लेनी चाहिए | क्योकि गुर्दे की पथरी (Kidney Stone) जंक्शन (दोनों किडनियों से आने वाली नली जो की पेशाब नली में आकर मिलती है) पर यह नुस्खा कुछ रोगियों में इतना कारगर साबित नही होने की स्थिति में यदि किडनी पेशाब नली में फंस जाती है ऐसे में चिकित्सकीय सहायता की आवश्यकता निश्चित ही बिना देरी किये ले लेनी चाहिए |

गुर्दे की पथरी (Kidney Stone) की आयुर्वेदिक दवा

पथरी में काम आने वाली महत्वपूर्ण आयुर्वेदिक दवा का नाम मात्रा व् लेने के तरीके आपको

  • हजरूल यहूद भस्म – गुर्दे की पथरी (Kidney Stone) की दवा के रूप में हजरूल यहूद भस्म का काफी अच्छा परिणाम देखने को मिलते है | इसकी 125-250 मिग्रा की मात्रा का सेवन करना उचित व् सुरक्षित रहता है |
  • पाषण भेदी रस – पथरी की दवा में पाषण भेदी रस का प्रयोग गुर्दे की पथरी (Kidney Stone) में अत्यंत लाभदायक होता है यह गुर्दे की पथरी (Kidney Stone) को गलागला मूत्र मार्ग से बहार निकालने में सहायक है | इसकी 250-500 मिग्रा का सेवन करना ठीक रहता है |
  • गोक्षुरादी गुग्गुल – गोक्षुरादी गुग्गुल की 3-3 गोलियों का सेवन दिन में तीन बार करे यह पेशाब की आवृति को बढ़ाने में सहायक है | मात्रा-2-2 गोली दिन में तीन बार |
  • गोक्षुरादी काढ़ा – गोक्षुरादी काढ़े का 25-25 मिली की मात्रा को समान भाग जल मिलाकर सेवन करने पर यह गुर्दे की पथरी (Kidney Stone) में लाभदायक होता है | 15-30 मिली समान भाग जल मिलाकर |
  • वरुणादी कषाय – वरुनादी कषाय का गुर्दे की पथरी (Kidney Stone) की उत्तम दवा माना जाता है उसका 25-25 मिली की मात्रा में सेवन करना लाभदायक सिद्ध होता है |
  • अश्मरीहरकषाय – अश्मरीहरकषाय का 25-25 मिली की मात्रा में समान भाग जल मिलाकर सेवन करने पर गुर्दे की पथरी (Kidney Stone) धीरे धीरे गल कर मूत्र  मार्ग से बहार निकल जाती है |
  • बैधनाथ पथरीना सिरप – बैधनाथ पथरीना सिरप का 25-25 मिली का सेवन करने से गुर्दे की पथरी (Kidney Stone) में आराम मिलता है |
  • हिमालय सिस्टोन टेबलेट – गुर्दे की पथरी में हिमालय की 2-2 सिस्टोन टेबलेट का सेवन दिन में तीन बार करने से पथरी में आराम मिलता है |
  •  श्री दयाल नैचुरल स्पाइन केयर , जयपुर Shri Dayal Natural Spine Care Jaipur द्वारा निर्मित दवा दी जाती है जिसके अधिकतम 10 दिनों तक पथरी की दवा का सेवन करने से आशातीत लाभ अभी तक लगभग सभी रोगियों का प्राप्त हुआ है | उपरोक्त सभी उपाय अजमाने के बाद हमारे द्वारा तैयार दवा का सेवन करके लाभ ले सकते हो |

किसी भी आयुर्वेद पथरी की दवा का सेवन आयुर्वेद चिकित्सक के परामर्श के बाद ही करे |

किडनी स्टोन में क्या खाये

किन लोगो को किडनी में स्टोन हो या फिर बचे रहना चाहते हो उन्ही निम्न खाद्य पदार्थो का सेवन अधिक से अधिक करना चाहिए जैसे – गाय की छाछ , मीठा आम, धनिया, भुनी हुई मूंग की दाल, दूध , सफेद पेठा, ककड़ी, परवल, नागकेशर, मोषमी का जूस,  आदि का भरपूर सेवन करना चाहिए |

गुर्दे की पथरी में क्या नही खाए

जिन लोगो को गुर्दे में पथरी हो उन्हें निम्न को भोजन में शामिल नही करना चाहिए – टमाटर, बैंगन, स्ट्राबेरी , चाय, खजूर, पालक, मटर, दही, जामुन, हींग, केला, सोयाबीन, राइ, चुकन्दर, फूलगोभी, चीकू आदि का सेवन नही करना चाहिए | बहुत से लोग पूछते है की पथरी होने पर दही खाना चाहिए या नही तो गुर्दे की पथरी होने पर दही कसा सेवन नही करना चाहिए |

यदि आपको गुर्दे की पथरी (Kidney Stone) से सम्बंधित किसी भी प्रकार की समस्या हो तो आप अपना सवाल कमेन्ट में पूछ सकते हो |

धन्यवाद !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *