प्लेटलेट्स बढ़ाने की टेबलेट आयुर्वेदिक दवा पतंजली | प्लेटलेट्स बढ़ाने के घरेलू उपाय

प्लेटलेट्स बढ़ाने की टेबलेट आयुर्वेद दवा

इन दिनों डेंगू और टायफस का प्रकोप बहुतायत से फैला हुआ है ऐसे में सबसे अधिक जरुरी है अपने आहार और विहार को स्वस्थ बनाकर रखा जाये | डेंगू के साथ टायफस का होना अधिक हानिकारक साबित हो रहा है ऐसे में आज हम इस आर्टिकल में चर्चा करेंगे प्लेटलेट्स बढ़ाने की टेबलेट आयुर्वेदिक दवा के बारे में –

प्लेटलेट्स बढ़ाने की टेबलेट आयुर्वेद दवा
प्लेटलेट्स बढ़ाने की टेबलेट आयुर्वेद दवा

प्लेटलेट्स क्या है ? What is platelets in hindi ?

प्लेटलेट्स या बिम्बाणु ये हमारे रक्त में मौजूद एक महत्वपूर्ण द्रव रुपी तत्व होता है जो हमारे शरीर में रक्त के स्त्राव को नियंत्रित करने में या ये कहे की चोट लगने पर रक्त को बहने से रोकने में सहायता करता है | जब आपके शरीर के किसी भी हिस्से में चोट लगती है तो प्लेटलेट्स को संकेत मिलते ही ये उस स्थान पर पहुंचकर रक्त को बहने से रोकती है | यदि आपकी प्लेटलेट्स कम है तो आपका बहता हुआ रक्त काफी देरी से रुकेगा |

प्लेटलेट्स की कमी के लक्षण symptoms of pletlets in hindi

यदि आपको प्लेटलेट्स की संख्या कम हो गयी है तो आप लक्षणों के आधार पर भी इसका अहसास कर सकते हो – प्लेटलेट्स की कमी होने पर आपको निम्न लक्षण महसूस होने लगते है –

  • शरीर पर लाल, भूरे रंग के चकते दिखाई देने लगेंगे
  • मसूड़ो से खून का बहना
  • नाक से खून का बहना अर्थात नकसीर आना
  • मलमार्ग से खून का बहना
  • मासिकधर्म के समय अधिक दिनों तक व अधिक वेग से रक्तस्राव का होना |
  • अधिक प्लेटलेट्स की कमी होने पर खून की उल्टी होना आदि लक्षण देखे जा सकते है |

क्यों होती है प्लेटलेट्स की कमी के कारण Cause of Low Pletelets in hindi

आमतौर पर प्लेटलेट्स की कमी को डेंगू बुखार का कारण माना जाता है किन्तु प्लेटलेट्स अन्य कारणों से भी कम हो सकती है –

  • विटामिन बी 9 की कमी
  • विटामिन बी 12
  • ब्लड कैंसर
  • आयरन की कमी
  • अस्थिमज्जा की कार्यप्रणाली में अनियमितता
  • शराब का अधिक सेवन
  • लीवर सोरायसिस
  • संक्रमण
  • एचआईवी
  • चिकन पॉक्स आदि के अलावा भी भी अन्य कारण हो सकते है | इस लेख में कुछ महत्वपूर्ण कारणों को ही दर्शाया गया है |

प्लेटलेट्स बढ़ाने की टेबलेट आयुर्वेदिक दवा पतंजली pletlets bdhane ki tablet ayurveda dva patanjli in hindi

  • लघुसूतशेखर रस
  • महासुदर्शन घनवटी
  • गिलोय घनवटी
  • पपीता एक्सट्रेक्ट टेबलेट
  • जायरेक्स प्लेटेक्स प्लस टेबलेट Zyrex Pletx Plus
  • हिमालय प्लेटेंज़ा टेबलेट
  • हिमालय प्लेटेंज़ा सिरप

घटी हुई प्लेटलेट्स को बढ़ाने के घरेलू उपाय home Remedies for Increase pletelets in hindi

पपीता

पपीता पर हुई शोध में पता चला है की इसके पत्तो के रस का सेवन प्लेटलेट्स की कमी को दूर करने में अत्यंत लाभदायक साबित होता है | साथ ही वर्तमान में डेंगू में कम हुई प्लेटलेट्स को बढ़ाने के लिए बाजार में पपीता के पत्तो के एक्सट्रेक्ट की टेबलेट भी उपलब्ध है जिनका सेवन करना अत्यंत सुलभ होता है | पपीता के पत्तो के रस का सेवन 10-15 मिली की मात्रा में व काढ़े का सेवन 30-50 मिली की मात्रा में किया जा सकता है |

बकरी का दूध

बकरी के दूध में मोजूद प्रचुरता से विटामिन्स, मिनरल्स, मैग्नेशियम, कैल्शियम, आयरन प्लेटलेट्स को बढ़ाने में अत्यंत लाभदायक सिद्ध होता है | बकरी के दूध का 50 मिली की मात्रा में दिन में दो से तीन बार सेवन कर सकते हो |

गिलोय

गुडूची डेंगू में कम हुई प्लेटलेट को बढ़ाने के साथ साथ बुखार को कम करते हुए आपकी इम्युनिटी को बढ़ाने में भी लाभदयक होती है |

पारिजात/हारसिंगार

हारसिंगार के पत्तो का काढ़ा बनाकर पीने से प्लेटलेट तो बढती ही है साथ ही यह डेंगू के समय शरीर में होने वाले दर्द से भी राहत दिलाता है |

नारियल पानी

नारियल पानी में भरपूर मात्रा में इलेक्ट्रोलाइट व मिनरल्स प्रचुरता से उपास्थित रहते है जो कम हुई pletlets को बढ़ाने के लिए उत्तम रहते है |

कीवी फल

किवी फल में सभी प्रकार के विटामिन्स आयरन, केरोटिन, फोलेट्स, कैल्शियम, मैग्नेशियम आदि प्रचुर मात्रा में पाए जाते है | इसी लिए किवी पर हुए एक शोध में यह सामने आया है की किवी फल खाने से प्लेटलेट्स काफी जल्दी बढने लगती है |

ज्वारे का रस

ज्वारे के रस को ग्रीन ब्लड के नाम से जाना जाता है | सामान्य सी बात है की जब ब्लड की मात्रा शरीर में बढ़ेगी तो स्वाभाविक तौर पर रक्त के पार्टिकल्स भी बढ़ेंगे | इस प्रक्रिया के तहत प्लेटलेट्स का बढ़ना भी निश्चित तय है |

चुकन्दर

इसमे एंटी ओक्सिडेंट और हेमोस्टेटिक प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो pletlets को बढ़ाने में अत्यंत प्रभावी साबित होता है | चुकन्दर का सेवन रक्त को बढ़ाने में सहायक होने से यह प्लेटलेट्स की कमी को भी खत्म करने में सहायक है |

पालक

पालक में आयरन की प्रचुरता हिमोग्लोबिन को बढ़ाने का एक उत्तम तरीका है | ऐसे में इसका सेवन करने से प्लेटलेट भी बढती है |

तुलसी पत्र

तुलसीपत्र एंटी ओक्सिडेंट होता है जिससे यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में फायदेमंद सिद्ध होने के साथ साथ डेंगू बुखार की तीव्रता को कम करते हुए प्लेटलेट को बढ़ाने में फायदेमंद है |

दिनचर्या

यदि आपकी प्लेटलेट घट रही है तो कुछ दिन के लिए व्यायाम करना बंद कर देवे ओर अपने शरीर को आराम देवे

आहार में लघु सुपाच्च्य भोजन का प्रयोग करे रात्रि का बचा हुआ एवम ठंडा भोजन नही करे साथ ही अधिक से अधिक उबाल कर ठंडा किया हुआ पानी पीये

नोट :- किसी भी प्रयोग को करने से पहले चिकित्सक से परामर्श अवश्य करे !

धन्यवाद !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *