इस नवरात्रा को बनाये स्वास्थ्यवर्द्धक | उपवास का वैज्ञानिक दृष्टिकोण/महत्व, फायदे व नुकसान

उपवास क्या है

वर्तमान समय में उपवास को लोगो ने अपने हिसाब से तोड़ मरोड़कर अपनी सुविधानुसार उपवास को सुलभ और सहज बनाने के चक्कर में उपवास के जो फायदे होते है उनसे दूर रह जाते है | उपवास शारीरिक व मानसिक शुद्धिकरण का प्राकृतिक तरीका है | जिसको अपनाकर आप अपने शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में आसानी से सफल हो सकते है | आगे इस आर्टिकल में हम चर्चा करेंगे उपवास के फायदे नुकसान व उपवास का सही तरीका आदि –

नवरात्रा में उपवास को बनाये स्वास्थ्य वर्द्धक

  • सबसे पहले ध्यान रखे कि नवरात्रा में आपको ब्रह्म मुहूर्त में अपने बिस्तर को छोड़ देना है |
  • उसके बाद शोचादी से निवृत होकर 2-5 किमी तक टहलना है उसके बाद प्राणायाम और मन्त्र ध्यान का अभ्यास करना है |
  • मन्त्र ध्यान अर्थात आप अपने अराध्य का स्मरण करते हुए अपने विचारो को सकारात्मक बनाने का अभ्यास करे |
  • जिस दिन आप बहार घुमने नही जा सको उस दिन आपको योगाभ्यास प्राणायाम और ध्यान का अभ्यास करना आवश्यक है
  • उपवास में सबसे महत्वपूर्ण होता है हमारा आहार लेने का सही समय और आहार का सही चयन करना |
  • नवरात्रा हो या कोई और उपवास हो ऐसे में आप जितना सुपाच्य आहार का सेवन करते हो आपका स्वास्थ्य उतना ही बेहतर होगा |
  • यदि आपको किसी प्रकार का कोई स्वास्थ्य सम्बन्धी विकार है तो आप अपना व्यक्तिगत डाइट चार्ट बनवाकर उसका पालन करते हुए उपवास करते हो तो निश्चित मानिये नवरात्रा उपवास के दौरान ही आपकी स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्या से छुटकारा मिल सकता है |
  • प्रात:काल आपको मोषमी फल और सब्जियो का सेवन करना है | यदि आप वजन कम करना चाहते है तो अपने वजन को 3 से गुना करे जितना योग आये उतना ग्राम फल सब्जी का सेवन करे और यदि आपको वजन बढ़ना है तो आप अपने वजन को 6 से गुना करने पर जो संख्या आती है उतने ग्राम फल सब्जियों का सेवन करे |
  • रात को सोने से पहले एक गिलास दूध में एक चम्मच गाय का घी डालकर सेवन करे जिससे शरद ऋतू में स्किन में रूखापन नही आएगा |
  • उपवास के दौरान यदि आपको कब्ज की शिकायत रहे तो एनिमा द्वारा पेट को साफ़ करले |
  • दोपहर में पूजा आदि से निवृत होने के बाद फल सब्जियों को उबाल कर सेंधा नमक कालीमिर्च दालचीनी पाउडर डालकर सेवन करे |
  • रात्रि में लोकी का सेवन करे |
  • सभी प्रकार की रेसिपी बनाने का तरीका आपको जल्द ही हमारे यूट्यूब चैनल पर उपलब्ध करवाया जायेगा |
  • नवरात्री उपवास के दौरान तुलसी पेय, अदरक पेय, संतरा पेय, चुकुन्दर पेय, दालचीनी पेय, आवला पेय, शंखपुष्पी पेय, लीची पेय, हरीतकी पेय का ही सेवन करे |

उपवास के फायदे

डिटोक्सीफिकेशन शरीर का शुद्दिकरण

उपवास से शरीर में जमे हुए विषेले पदार्थो को आसानी से बहार निकालने का का अत्यंत सरल और उपयोगी माध्यम है | उपवास का यदि नियमो के अनुरूप सही प्रकार से पालन किया जाये तो रोगी व्यक्ति के रोग मुक्ति में और स्वस्थ व्यक्ति के स्वास्थ्य को और अधिक बेहतर बनाने में बहुत लाभदायक सिद्ध होता है |

उच्च रक्तचाप में उपवास के फायदे

यदि आप बढ़े हुए रक्तचाप से परेशान हो तो इस नवरात्री आप अपने बढ़े हुए रक्तचाप को सामान्य करने में सफलता हासिल कर सकते हो | इस हेतु आप इंटरमिड़ीयट फास्टिंग का सहारा लेते हुए अपनी समस्या का समाधान कर सकते हो | इंटरमिड़ीयट फास्टिंग के एक रिसर्च पेपर में यह बाद सामने आई है की उपवास का नियमानुसार पालन करने से उच्च रक्तचाप में फायदा मिलता है |

स्किन के लिए फायदेमंद है उपवास

इस नवरात्री आप उपवास के सहारे से अपनी स्किन को मुलायम और चमकदार बनाये | इस हेतु आपको केवल फल और सब्जियों का सेवन ही करना है | फल और सब्जियों का सेवन करने से हमारे रक्त के विजातीय द्रव बहार निकलते है जिसके परिणामस्वरूप हमारी स्किन मुलायम और चमकदार हो जाती है |

बालो के लिए फायदेमंद है नवरात्रि उपवास

उपरोक्त बताये अनुसार यदि आप नवरात्री उपवास करते हो तो फल और सब्जियों से आपको सभी प्रकार के पोषण तत्व प्रोटीन, विटामिन्स आदि प्रचुर मात्रा में मिलते है जिससे बालो को अच्छे से पोषण मिलने से बाल घने और मुलायम होंगे |

जारी ……….जल्द अपडेट किया जायेगा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *