बैधनाथ सुपारी पाक परिचय, घटक द्रव्य, बनाने की विधि, फायदे व नुकसान

सुपारी पाक के फायदे

परिचय बैधनाथ सुपारीपाक baidhnath supari paak

सुपारी पाक के फायदे इसका उपयोग पुरुष व् महिला दोनों ही अपनी सामान्य कमजोरी को दूर करने के लिए लम्बे समय से करते रहे है किन्तु इसके घटक द्रव्यों के आधार पर इसका अधिक लाभ महिलाओ को ही प्राप्त होता है |

सुपारी पाक के फायदे

वैसे बड़े लम्बे समय से आप सुपारी पाक के फायदे के बारे में अपने भी अपने घर के बड़े बुजुर्गो से काफी सुना ही होगा ऐसे में आज हम चर्चा करेंगे इसके सभी पहलुओ के बारे में की सुपारी पाक के फायदे कैसे अधिक लिए जा सकते है | और यह कितना असरकारक है |

बैधनाथ सुपारीपाक के घटक द्रव्य ingredient of supari paak in hindi

  • पुगफल (सुपारी) – 1 किग्रा  
  • घी – 500 ग्राम
  • शतावरी – 30 ग्राम
  • धात्री रस – 30 ग्राम
  • गोदुग्ध – 1 लीटर
  • शक्कर – 1 किग्रा
  • नागकेशर – 30 ग्राम
  • अजवायन  – 30 ग्राम
  • चंदन – 3 ग्राम
  • सोंठ – 3 ग्राम
  • मरीच(कालीमिर्च) – 5 ग्राम
  • पिप्पली – 5 ग्राम
  • आवला – 5 ग्राम
  • वंशलोचन – 5 ग्राम
  • इलायची – 5 ग्राम
  • तेजपत्र – 3 ग्राम
  • सफेद जीरा – 5 ग्राम
  • कालाजीरा – 5 ग्राम
  • बिलोने की गिरी – 10 ग्राम
  • धनिया – 10 ग्राम
  • जायफल – 5 ग्राम
  • जावित्री – 5 ग्राम
  • लोंग – 10ग्राम
  • निलोफर फूल –  1 ग्राम
  • सिंघाड़ा – 30 ग्राम
  • खिरनी बीज – 50 ग्राम
  • पिप्पला मूल– 10 ग्राम
  • पिस्ता– 50 ग्राम
  • भृंगराज – 20 ग्राम
  • अश्वगंधा – 20
  • मुनक्का
  • तालिशपत्र 5 ग्राम

आदि घटक द्रव्यों का उपयोग सुपारी पाक बनाने में किया जाता है |

बैधनाथ सुपारी पाक बनाने की विधि baidhnath supari paak bnane ki vidhi

सुपारी पाक बनाने में सबसे पहले सुपारी को बारीक़ चूर्ण बनाकर रखले उसके बाद गाय के घी में डालकर मन्दाग्नि पर उसको अच्छे से सेंक ले | उपरोक्त सभी घटक द्रव्यों को भी अच्छे से महीन चूर्ण बना कर रखले | जब सुपारी अच्छे से पक जाये तो सभी घटक द्रव्यों को भी डालकर अच्छे से सेंक ले | दूध का मावा बना कर रख ले |

अंत में जब मावा भी बन जाये और आपके सभी घटक द्रव्य भी अच्छे से भुन जाये तो आपको चाशनी बना लेनी चाहिए | इसके बाद सभी सेके हुए घटकों को मावे में डालकर घी के साथ अच्छे से दोबारा भुने | जब मावे का रंग हल्का भूरा होने लगे तो इसे उतारकर चाशनी मिला ले | यदि इसे ग्रैनुल्स बनाना है तो हल्का हल्का कूट ले | दाने दार सुपारी पाक बन कर तैयार है | बाकि इसका आप चोकलेटी पीस भी बना सकते हो |

बैधनाथ सुपारी पाक के फायदे

सौन्दर्य बढ़ाने में सुपारी पाक के फायदे

सुपारी पाक के फायदे यह सभी धातुओ का पोषण करने में सक्षम होने से रूप सौन्दर्य को निखारने में असरदायक साबित होता है |

बांझपन में सुपारी पाक के फायदे

यह धातुओ के पोषण करता होने से गर्भाशय में उपस्थित सभी प्रकार के दोषों का शमन करने में अच्छा टोनिक है | जिससे सभी विकारो को दूर करके यह बांझपन के उपचार में प्रभावी परिणाम देने वाला है |

योनी मार्ग की शिथिलता को कम करने में फायदेमंद

अक्सर डिलीवरी के पश्चात् योनी मार्ग का शिथिल हो जाना स्वभाविक है किन्तु डिलीवरी के पश्चात यदि महिला द्वारा सुपारी पाक का सेवन किया जाये तो यह योनिमार्ग की शिथिलता को दूर करने में काफी हद तक फायदेमंद रहता है |

विशेष– अविवाहित लडकियों द्वारा इसका सेवन नही करना चाहिए | यदि करना भी हो तो बिना चिकित्सकीय देखरेख के ना करे |

सुपारीपाक ल्यूकोरिया के इलाज में फायदेमंद

यह एक टॉनिक के रूप में काम करता है और आप सभी जानते हो की जिस महिला को ल्यूकोरिया की समस्या रहती है उसमे उर्जा का ह्यास हो जाता है | ऐसे में महिलाओ की एनर्जी बढ़ाने में और लुकोरिया के इलाज में फायदेमंद है सुपारीपाक |

ये भी पढ़ेवाइट डिस्चार्ज का इलाज

खोई हुई एनर्जी को दुबारा लोटने में फायदेमंद सुपारीपाक

सुपारी पाक महिला व् पुरुषो की खोई हुई एनर्जी को दुबारा लोटने में फायदेमंद साबित होता है |

इरेक्टाइल डिसफंक्शन में फायदे मंद

पुरुषो में होने वाली शुक्राणुओं की कमी, समय से पहले स्खलित हो जाना आदि के समाधान के लिए इसका उपयोग करना अधिक फायदेमंद साबित होता है |

महिलाओं के सामान्य कमजोरी को खत्म करे

महिलाओ में अधिकतर सामान्य कमजोरी का होना आम बात है | ऐसी महिलाओ को सुपारीपाक का सेवन कमजोरी से छुटकारा दिलाने में मददगार साबित होता है | नियमित कुछ समय तक शारीरिक दुर्बल रोगी को सेवन के बाद सुपारी पाक के फायदे देखे जा सकते है | यहाँ पढ़े – ल्यूको ड्रिंक किट के फायदे

तंत्रिका सम्बन्धी रोगों में लाभकारी है सुपारीपाक

सुपारी पाक का सेवन तंत्रिका सम्बन्धी रोगों से राहत दिलाने में लाभकारी है |

बैधनाथ सुपारी पाक उल्टी में फायदेमंद

सुपारी पाक का सेवन बार बार होने वाली उल्टी की समस्या से छुटकारा दिलाने में लाभदायक है |

दर्द निवारण में सुपारिपाक के फायदे

सुपारी पाक में वात नाशक घटक द्रव्यों की उपस्थिति होने से इसका सेवन दर्द से छुटकारा दिलाने में भी फायदेमंद साबित होता है |

अम्लपित्त रोग में सुपारी पाक के फायदे

अनेको रोगियों को सेवन करवाने के बाद यह कहा जा सकता है की सुपारी पाक का सेवन अम्लपित्त रोग में भी फायदेमन्द है | 

बैधनाथ सुपारी पाक के नुकसान side effects of supaari pak in hindi

आम तौर पर सुपारी पाक के नुकसान नही देखे गये है किन्तु बिना चिकित्सक की सलाह के खुद से ही सेवन करने पर देखे जा सकते है | जिसका कारण है की आप खुद से दवा के डोज का सही चयन नही कर पाते हो जिसे बैचैनी होना गैस से सम्बंधित समस्या का होना देखा जा सकता है |

सेवन विधि व मात्रा supari paak uses in hindi

वैधनाथ सुपारी पाक का 5 ग्राम से 20 ग्राम तक की मात्रा में सेवन किया जा सकता है | खाने के बाद दूध या चिकित्सक के बताये अनुसार |

बैधनाथ सुपारी पाक के सेवन में सावधानी

  • वैधनाथ सुपारी पाक का सेवन चिकित्सक की देखरेख में ही करे |
  • स्वयं के आधार पर सुपारी पाक का सेवन स्टार्ट नही करना चाहिए | अन्यथा हानि हो सकती है |
  • सुपारी पाक एक पोष्टिक पाक है इस लिए व्यक्ति विशेष की पाचन शक्ति के अनुसार सेवन विधि व मात्रा का निर्धारण भलीभांति नही होने से हानि हो सकती है |
  • सुपारीपाक के सेवन के दौरान खट्टी वस्तुओ का सेवन नही करना चाहिए |

यदि आपको हमारा लेख पसंद आया हो तो कृपया शेयर करे |

धन्यवाद !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *