पालक – एक बेहतरीन सुपर फ़ूड , जाने पालक के ओषधिय गुण-धर्म और पालक के फायदे

पालक के फायदे
पालक के फायदे
image-intoday.aajtak.com

परिचय :- पालक मूलत: दक्षिण पश्चिम एशिया में पाया जाने वाला पोधा है | भारत में सभी स्थानों पर पालक की उपलब्धता आसानी से संभव है | स्थान विशेष के आधार पर पालक को अनेको नामों जैसे पालक्या , मीठा पलंग , छुरिका , मधुरा , पालक साग , garden spinach , आदि नामों से जाना जाता है | पालक का वैज्ञानिक नाम spinacia oleracea linn है |

इसके पोधे की लम्बाई लगभग 40 – 60 सेमी तक होती है | इसके पत्ते बड़े व् हरित वर्ण लिए हुए मांसल व् चिकने होते है |

पालक मधुर , कटु , तिक्त ,कफपित्तशामक , वातकारक , क्षारीय , शीत व् ग्राही पथ्य है | इसके पत्ते शोधक होने से मूत्रल , विरेचक और पाचक गुणों से परिपूर्ण होते है |    

पालक का रासायनिक संघटन

पालक के पोधे में क्लोरजेनिक, निओक्लोरजेनिक अम्ल , एस्ट्रागैलिन , हाइपेरोसाइड , आदि पाए जाते है |

पालक के पत्तो में विटामिन ए , बी कोम्प्लेक्स , सी, इ व् के  बहुतायत से पाया जाता है | इसके अलावा आयरन , कैल्शियम प्रोटीन , ओक्जेलिक अम्ल , स्टिग्मास्टेरोल , फास्फोरस , कैरोटिन  स्पाईनासैपोनिन आदि की उपलब्धता इसे और अधिक महत्वपूर्ण बना देता है |

उपरोक्त सभी विवरण से यह स्पष्ट हो जाता है की पालक में अनेको मिनरल्स , न्युर्टीसियंस व् विटामिन्स आदि के कारण पालक को सुपर फ़ूड कहने में कोई अतिश्योक्ति नही होगी |

पालक को अनेको प्रकार से उपयोग में लिया जाता है जैसे सब्जी के रूप में , पराठो के रूप में , रायते के रूप में , सलाद के रूप में किन्तु सबसे अधिक गुणकारी साबित होता है पालक का रस |

पालक के फायदे  

चेहरे की सुन्दरता बढ़ाने में पालक के फायदे

पालक के रस का नियमित सेवन चेहरे को सुन्दर बनाने में आपके लिए मददगार साबित हो सकता है | पालक में उपस्थित खनिज लवण व् विटामिन्स हिमोग्लोबिन को बढ़ाने में अहम भूमिका निभाते है जिससे आपका चेहरा गुलाबी व् पहले से सुन्दर नजर आने लगेगा |

एनीमिया रोग में पालक के फायदे

पालक में उपस्थित प्रोटीन , विटामिन्स व् खनिज लवणों की प्रचुरता पालक स्वरस से कुछ समय के नियमित प्रयोग के बाद ही एनीमिया रोग से आपको छुटकारा मिल सकता है |

चर्मरोगो में पालक के फायदे

पालक के पत्तो में उपस्थित स्पाईनासैपोनिन आपको चर्म रोगों से निज़ात दिलाने में मददगार साबित हो सकता है | पालक के कल्क को श्वित्र वाले भाग पर लगाने से वह ठीक होने लगता है |

उच्चरक्तचाप में पालक के फायदे

5 मिली पालक के स्वरस में 5 मिली नारियल पानी मिलाकर नियमित प्रात काल सेवन करने से धीरे धीरे बढ़ा हुआ रक्तचाप सामान्य होने लगता है |

लीवर की सूजन में पालक के फायदे

पालक के बीजो के चूर्ण का नियमित कुछ दिनों तक सेवन किया जाये तो लीवर की सूजन से राहत मिल जाती है |

गले की सूजन में पालक के फायदे

पालक के पत्तो को पानी में अच्छे से उबालकर गरारे करने से गले की सूजन से छुटकारा मिल जाता है |

नेत्र रोगों में पालक के फायदे

आँखों के लिए पालक का सेवन अत्यंत लाभकारी रहता है | आँखों के अच्छे स्वास्थ्य के लिए पालक के स्वरस का सेवन अवश्य करे |

गठिया में पालक के फायदे

पालक के पूरे पोधे को चटनी बनाकर उसे थोडा गर्म करके घुटनों व् कमर पर लगाने से दर्द में आराम मिलता है |

कैंसर की रोकथाम में पालक के फायदे

पालक में उपस्थित कैरोटिन कैंसर से बचाव करने में अहम भूमिका निभाता है यह पालक पर हुई अनेको शोधो से स्पष्ट होता है |

कब्ज में पालक के फायदे

यदि आप कब्ज से परेशान रहते है तो आज से ही पालक का जूस पीना प्रारम्भ कर देना चाहिए | क्योकि पालक में उपस्थित स्पाईनासैपोनिन की विरेचक प्रवर्ती आपके मल को अच्छे से बहार निकलने में आपके लिए मददगार साबित होगा |

यदि लेख पसंद आया हो तो शेयर अवश्य करे |

धन्यवाद !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *