सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस क्या है ? लक्षण, कारण, योग और सर्वाइकल में क्या खाए

सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस

सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस क्या है ?

गर्दन में स्थित सर्वाइकल नर्व में कुपित हुई वायु कफावृत होकर गर्दन के पिछले हिस्से में रहने वाली मन्या/ सर्वाइकल नाम की शिरा/नर्व में वायु/वात को प्रकुपित कर देती हैं जिससे गर्दन को घुमाने फिराने पर बहुत भयानक दर्द होता है इसे ही मन्यास्तम्भ, सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस (cervical_spondylitis) कहा जाता है।

सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस
सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस

परिचय- सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस क्या है ?

डिस्क के बाहरी आवरण में विकार उत्पन्न होकर इसमें उपस्थित न्यूक्लियस पल्पोसस नामक गाढे द्रव का रिसाव होने लगता है | जिससे डिस्क के आसपास की तंत्रिकाओ (नर्व) पर गाढे द्रव के फ़ैल जाने से नर्व पर पड़ने वाले दबाव से  विकार उत्पन्न हो जाता है | इसे ही स्लिप डिस्क कहा जाता है | यही डिस्क जब गर्दन वाले भाग में स्लिप होती है तो उसे सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस के नाम से पुकारा जाता है |

सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस के लक्षण क्या है ? सर्वाइकल दर्द के लक्षण क्या है ?

अक्षर जिन लोगो की लाइफस्टाइल डिस्टर्ब रहती है उनको गर्दन दर्द की समस्या आम बात हो जाती है ऐसे में बड़ा असमंजस बना रहता है की सर्वाइकल के लक्षण क्या है इनके बारे में जानकर आप इस समस्या को पहचान कर इसका उचित परामर्श अपने नजदीकी चिकित्सक से समय पर ले सके

  1. गर्दन से लेकर हाथ की अंगुलियों तक कही भी लगातार दर्द या भारीपन का अनुभव  होना |
  2. सिर को उपर की और घुमाने पर चक्कर आना |
  3. गर्दन में जकडन के साथ लगातार भयंकर दर्द का बना रहना |
  4. जिस और ज्यादा समस्या रहती है उस हिस्से में दर्द का बढना |
  5. दोनों हाथो में दर्द का बना रहना साथ ही हाथ की अंगुलियों और अंगूठे में सूनापन हो जाना |
  6. रात के समय गर्दन में दर्द का बढना |
  7. कुछ विशेष गतिविधियों में दर्द का बढ़ जाना जैसे :- खड़े होने या बैठने के बाद में दर्द का अचानक तेज बढ़ जाना |
  8. खड़े होकर थोडा चलने पर दर्द का वेग अति तीव्रगति से बढ़ जाना |
  9. प्रभावित हिस्से की मांसपेसियों में कमजोरी का एहसास होना |
  10. जलन, दर्द, सूनापन या झुनझुनाहट का होना |
  11. अंग विशेष में भारीपन का एहसास होना आदि|
  12. सुई के चुभने जैसे पीड़ा होना

सर्वाइकल को कैसे ठीक करे ?

बहुत लोगो के कॉल और मैसेज आते है की सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस को कैसे ठीक करे उसी के जवाब में आज इस आर्टिकल के माध्यम से सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस को ठीक करने के लिए कुछ सरल विधियाँ बताई जा रही है जिनको अपना क्र काफी हद तक आप अपने सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस अर्थात गर्दन के दर्द से राहत पा सकते है |

JOINT STAMINA CAPSULE FOR JOINT PAIN
JOINT STAMINA CAPSULE FOR JOINT PAIN AND SEXUAL WEAKNESS

सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस को ठीक करने के लिए आपको सबसे अधिक जोर अपनी लाइफ स्टाइल को सुधारने पर देना होगा यहदी आप ऑफिस वर्क करते है तो आपको अपने posture का विशेष ध्यान रखने की जरूरत है साथ ही नियमित योगाभ्यास , प्राणायाम, और वायु मुद्रा का आपको नियमित अभ्यास करना होगा | योग और प्राणायाम के नाम की सूचि इसी आर्टिकल में आगे बताई गयी है |  

सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस के लिए कोनसा योग करना चाहिए

गर्दन दर्द में राहत पाने के लिए कोण कोनसे योग करने चाहिए इसी सवाल के जवाब में आपको बता रहे है अनुभूत योगासन जिनके अभ्यास से आप अपने सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस की समस्या से राहत पाने में सफल हो पाओगे |

सबसे पहले गर्दन चालन का अभ्यास करे – गर्दन को दाये-बाये गुमाये| उसके बाद उप-डाउन करे- उसके बाद घडी की दिशा में और विपरीत दिशा में घुमाये |

  • भुजंगासन
  • ताड़ासन
  • मर्कटासन
  • वायुमुद्रा
  • कपालभांति
  • नाडी शोधन
  • भ्रामरी
  • ध्यान

आदि का अभ्यास किसी योग शिक्षक की देखरेख में करे |

सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस में क्या खाना चाहिए ?

अपनी डाइट में अधिक न्यूट्रीशन युक्त फल और सब्जियों को शामिल करे | साथ ही ओमेगा 3 युक्त आहार का सेवन अधिक से अधिक अपनी डाइट में सम्मिलित करे | मिल्क प्रोडक्ट्स का सेवन कैल्शियम की कमी से छुटकारा दिलाने में सहायक होता है | आगे सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस में क्या क्या फल और सब्जिय अपनी डाइट में शामिल करे जिनको सारणीबद्ध किया जा रहा है |

  • हरी पत्तेदार सब्जिया
  • अंकुरित दाले
  • बादाम
  • अखरोट
  • अलसी
  • लहसुन
  • हल्दी
  • अदरक
  • ब्राउन राइस
  • जो
  • रागी
  • पत्तागोभी
  • चिया सीड्स
  • कुलफा

आदि का भरपूर मात्रा में सेवन करना चाहिए | जिससे भरपुर पोषण मिलने से सर्वाइकल के दर्द से आराम मिल सके |

Dr.Ramhari Meena

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *