कोरोना वायरस क्या है लक्षण व बचाव

कोरोना वायरस

चीन से निकला कोरोना वायरस अब एशिया महादीप के दुसरे देशो के शहरों में भी पहुंच चूका है | कोरोना वायरस के जापान, साउथ कोरिया, थायलैंड व् भारत पहुंचने की पुष्टि हो चुकी है |

कोरोना वायरस
कोरोना वायरस

कोरोना वायरस के बढ़ते हुए प्रकोप को देखते हुए भारत सहित दुनिया के अधिकतर देशो ने चीन में अपने देश वासियों को घुमने आदि पर चेतावनी जारी कर दी है | जिसका कारण पिछले कुछ समय में चीन में भारी मात्रा में मिले कोरोना वायरस के रोगी है | चीन के विभिन्न शहरों में अब तक लगभग 300 रोगियों के पीड़ित होने की पुष्टि हो चुकी है | जिनमे से लगभग 20 से अधिक लोगो के खत्म होने की पुष्टि भी हुई है |

कोरोना वायरस क्या है

कोरोना वायरस मुख्यत: जानवरों में पाए जाने वाला एक वायरस होता है | कोरोना वायरस कई सारे वायरसो का एक संगठित समूह है जो जानवरों से इंसानों में पहुंच गया है | कोरोना वायरस को सी-फ़ूड से निकला हुआ माना जा रहा है | जिसकी शुरुआत चीन के वुहान शहर के एक बड़े सी-फ़ूड मार्केट से बताई जा रही है |

प्रेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया के अनुसार चीन की पेकिंग यूनिवर्सिटी ऑफ़ हेल्थ साइंस के शोधकर्ताओ ने कोरोना वायरस की पुष्टि सांप से इंसानों तक पहुंचने की बताई है वही दूसरी और चीनी अकादमी ऑफ़ साइंसेज की और से करवाए गये एक अध्धयन में कोरोना वायरस की उत्पत्ति सांप या चमगादड़ो से होना बताया गया है दोनों की रिपोर्ट के आधार पर यह कहा जा सकता है की कोरोना वायरस की उत्पत्ति संभवत: सांप से ही हुई होगी

कोरोना वायरस के लक्षण

गला खराब रहना

सिर दर्द

गले में खराश का रहना

नाक बहना

अस्थमा के लक्षण

फेफड़ो में सूजन

बिना काम किये थकान होना

बहुत अधिक छींक आना

ठंड के साथ बुखार होना

कोरोना वायरस से बचाव ही उपचार है

अभी तक कोरोना वायरस की किसी प्रकार की कोई मेडिसिन की पुष्टि नही हुई है ऐसे में बचाव ही उपचार है |

अपने आसपास के परिवेश को साफ़ सुथरा बनाये रखे |

घर से बहार जाने पर वापस घर पहुंचते ही साबुन से अच्छे से हाथ धोये

किसी भी प्रकार के बीमारी से ग्रस्त व्यक्ति के पास बिना मास्क पहने ना जाये | किसी भी व्यक्ति से हाथ ना मिलाये |

मवेशियों को कम से कम जानवरों के सम्पर्क में रहना चाहिए |

अंडे और मीट आदि को भलीभांति पकाए |

मुह पर हाथ लगाने से पहले साबुन से अच्छे से साफ करे |

किसी भी प्रकार के बहारी व्यक्ति से सम्पर्क में आने से बचे |

कोरोना वायरस का आयुर्वेद बचाव/इलाज

यह अत्यंत हानिकारक वायरस है जिसका उपचार करने में कुछ आयुर्वेद इलाज कारगर साबित हो सकता है |

गिलोय, वासा, हरिद्रा, तुलसी, आदि का काढ़ा बनाकर उपयोग करने से इसके दुष्प्रभावो से बचा जा सकता है |

अदरक को सेंधा नमक में भूनकर चबाये |

ज्वारे के रस में तुलसी व् गिलोय का सेवन करे |

नहाने के बाद नाको में सरसों का तेल लगा कर निकले जिससे वायरस सांसो के साथ अन्दर नही जा पायेगा |

रोगी को जिस प्रकार के लक्षण दिखाई दे उसी के अनुसार आयुर्वेद चिकित्सक से परामर्श करके शीघ्र अपना उपचार करवाने से कोरोना वायरस के दुष्प्रभावो से बचा जा सकता है |

कोरोना वायरस से सम्बंधित किसी भी सवाल के लिए अपने सवाल कमेन्ट बॉक्स में छोड़े |

धन्यवाद !

One thought on “कोरोना वायरस क्या है लक्षण व बचाव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *