कोरोना ठीक हो जाने के बाद किन-किन बातों का रखे विशेष ध्यान पोस्ट कोविड केयर मैनेजमेंट post covid care management in hindi

post covid care in hindi

वर्तमान समय में कोरोना महामारी ने जिस प्रकार हमारा जीवन अस्त-व्यस्त कर रखा है उससे हम सब अच्छे से वाकिब है ऐसे में पोस्ट कोविड केयर (post covid care in hindi )के बारे में भी हमे सावधान रहने की विशेष आवश्यकता है –

post covid care management in hindi
post covid care

आज इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको पोस्ट कोविड केयर post covid care management in hindi अर्थात जिन लोगो को कोरोना हो चुका है उनको अपनी दिनचर्या और खाने पीने में किन किन बातो का ध्यान रखना चाहिए आदि के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे |

कोरोना ठीक होने के बाद क्या क्या लक्षण शरीर में दिखाई देते है post covid symptomps in hindi

  • शारीरिक कमजोरी
  • याददास्त का कमजोर हो जाना
  • तनाव का बना रहना                          
  • खाना खाने की इच्छा नही रहना अर्थात पाचकाग्नि का शांत हो जाना |
  • चिडचिडापन का रहना
  • कफ का बढ़ा हुआ प्रतीत होना
  • साँस का फूलना
  • सेल्फ कॉन्फिडेंस की कमी
  • हल्के-हल्के बुखार का रहना आदि जैसे लक्षण कोरोना के ठीक होने के  बाद भी बने रह सकते है –

कोरोना ठीक होने के बाद इम्युनिटी को कैसे बढाये how to boost immunity after post covid care in hindi

जिन लोगो को कोरोना हो चुका है उनकी इम्युनिटी पॉवर कमजोर हो जाती है ऐसे में सबसे महत्वपूर्ण है उन्हें अपनी इम्युनिटी को बढ़ाना (immunity power kaise badhaye)| आगे इसी आर्टिकल में हम चर्चा करेंगे इम्युनिटी बूस्टर डाइट, इम्युनिटी बूस्टर ड्रिंक, इम्युनिटी बूस्टर काढ़ा, इम्युनिटी बढ़ाने वाले योग आदि के बारे में |

जो लोग कोरोना होने के बाद post covid care management in hindi वापस ठीक होकर घर आते है उन्हें अपनी दिनचर्या पर विशेष ध्यान देने की जरुरुत रहती है |

पोस्ट कोविड केयर में च्यवनप्राश के फायदे

कोरोना काल में इम्युनिटी बढ़ाने में च्यवनप्राश की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका रही है ऐसे में जिन लोगो को कोरोना हो चुका है उनको कोरोना ठीक हो जाने के बाद शुद्ध च्यवनप्राश का अधिक से अधिक सेवन आयुर्वेद चिकित्सक के दिशा निर्देशानुसार करना चाहिए जिससे किसी प्रकार का उपद्रव उत्पन्न न हो सके |

साथ ही यदि थोडा बहुत इन्फेक्शन यदि शरीर में रह गया है तो उसको ठीक करने में च्यवनप्राश अपने गुणों से उसे ठीक कर देगा |

इम्युनिटी बूस्टर काढ़ा post covid care immunity booster kadha in hindi

सभी लोगो को आवश्यक है किन्तु जिन लोगो को कोरोना होकर ठीक हो चुके हो उन्हें इम्युनिटी बूस्टर काढ़ा नियमित और अन्तराल से पीते रहना अत्यंत आवश्यक है | कोरोना काल में जिस आयुर्वेदिक काढ़े ने सबसे ज्यादा इस बीमारी से हमे प्रोटेस्ट किया है वो है वातश्लेष्मिक ज्वर हर क्वाथ –

वातश्लेष्मिकज्वर हर क्वाथ के प्रमुख घटक- वासा, कंटकारी, हरिद्रा, सौंठ, भारंगी, तालीस पत्र, मुलेठी, तुलसी पंचांग, कालीमिर्च, लौंग, पिप्पली, चिरायता आदि | श्री दयाल हर्बल के आयुष क्वाथ में ये सभी घटक द्रव्य उपलब्ध है | वातश्लेष्मिक ज्वर हर क्वाथ से सम्बंधित अधिक जानकारी के लिए यहाँ पढ़े –  वातश्लेष्मिकज्वर हर क्वाथ

इम्युनिटी बूस्टर ड्रिंक immunity booster drink in hindi

पिछले आर्टिकल में हमने इम्युनिटी बूस्टर ड्रिंक के बारे में विस्तार से चर्चा की थी | इम्युनिटी बूस्टर मिल्क शेक ड्रिंक में सभी ड्राई फ्रूट्स के साथ साथ अश्वगंधा, नागरमोथा, वंशलोचन, दालचीनी, सौंठ, हरिद्रा, जैसे महत्वपूर्ण घटक द्रवों की उपस्थिति होने से यह पोस्ट कोविड केयर में बहुत ही लाभदायक सिद्ध हो रहा है | इम्युनिटी बूस्टर ड्रिंक के बारे मे अधिक पढने के लिए यहां क्लिक करे – इम्युनिटी बूस्टर मिल्क शेक immunity booster milk shake

पोस्ट कोविड केयर लड्डू post covid care balls in hindi

हाल ही में हमने पोस्ट कोविड केयर लड्डू बनाकर कोरोना से ठीक हुए रोगियों को खिलाये थे | जिनका परिणाम काफी उत्साह वर्धक रहा | क्योकि जिन लोगो को हमने इनका उपयोग करवाया उन्हें पांच दिन उपयोग करने के बाद ही पोस्ट कोविड लक्षणों में आराम दिखने लग गया | लड्डूओ के बारे में जानने के लिए इस लिंक पर विडियो देखे – सम्पूर्ण स्वास्थ्य वर्धक लड्डू

नियमित योगाभ्यास

नियमित रूप से योगाभ्यास को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बना लेना चाहिए क्योकि योग और प्राणायाम के द्वारा व्यक्ति को फेफड़ो में ओक्सिजन अधिक मात्रा में पहुंचती है जिससे यदि कोरोना के बाद थोडा इन्फेक्शन रह भी गया हो तो प्राणायाम के द्वारा उसका समाधान हो कर आपका स्वास्थ्य जल्द ठीक हो जायेगा |

अधिक लाभ लेने के लिए प्राणायाम करने से पहले अपनी दोनों नाकों में गाय का घी, अणु तेल या तिल तेल किसी भी एक तेल को नाकों के अंदर लगाने के बाद प्राणायाम करे | यदि भाप लेने के बाद यदि आप अणु तेल की 4-4 बुँदे डालने के बाद प्राणायाम करते हो तो बहुत ही अधिक लाभदायक सिद्ध होता है |

कोरोना से ठीक होने के बाद लाभदायक योगासन

  • सूक्ष्म व्यायाम
  • सूर्यभेदी प्राणायाम
  • नाड़ी शोधन / अनुलोम विलोम
  • भ्रामरी
  • कपालभांति
  • मैडिटेशन – ध्यान

ध्यान का अभ्यास करना पोस्ट कोविड केयर में बहुत लाभदायक सिद्ध होता है क्योकि कोविड के दौरान व्यक्ति का मानसिक तनाव बहुत अधिक बढ़ जाता है |उसके दिमाग में नेगेटिव विचार आने लगते है साथ ही आसपास वाले भी रोगी रहे व्यक्ति को नैगेटिव करने में अपनी पूरी भागीदारी निभा जाते है |

कोविड के ठीक हो के बाद ध्यान रखने योग्य बाते

धुप स्नान पुरे शरीर पर आयल लगाकर 15 मिनट के लिए धुप में बैठे उसके बाद स्नान करे |रात को सोते समय अपनी नाभि में एरंड तेल, नारियल तेल, गाय का घी, तिल तेल आदि सभी को समान मात्रा में लेकर मिक्स कर के 5 मिनट के लिए डालकर छोड़ दे उसके बाद गोल-गोल हाथ से घुमा कर नाभि के आसपास वाले भाग में मालिश करे |

यह जानकारी केवल सामान्य जानकारी के लिए साझा की गयी है किसी भी प्रयोग को करने से पहले आयुर्वेद चिकित्सक से परामर्श अवश्य ले |

यदि हमारा आर्टिकल पसंद आया होतो अपने सभी नजदीकी दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे |

धन्यवाद !

डॉ.रामहरि मीना

निदेशक श्री दयाल नैचुरल स्पाइन केयर जयपुर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *